गुजरात चुनावों पर मोदी की ही चली

चुनाव आयोग ने गुजरात विधानसभा के चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया है। ये चुनाव 11 और 16 दिसंबर 2007 को दो चरणों में किए जाएंगे। मतगणना 23 दिसंबर को की जाएगी और उसी दिन रात तक सभी नतीजों के आ जाने की उम्मीद है। गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी की बीजेपी सरकार चाहती थी कि चुनाव दो चरणों में कराए जाएं और दोनों चरणों में कम से कम पांच दिनों का अंतर हो। चुनाव आयोग ने मोदी सरकार की बात पूरी तरह मान ली है, जबकि कांग्रेस की मांग को अनसुना कर दिया है।

असल में कांग्रेस ने अंदेशा जताया था कि अगर चुनाव दो चरणों में कराए गए तो मोदी सरकार प्रशासनिक तंत्र का इस्तेमाल करके धांधली कर सकती है। इसलिए उसने चुनाव आयोग ने अनुरोध किया था कि चुनाव एक ही चरण में कराए जाएं। कांग्रेस ने चुनावों में गुजरात पुलिस की भूमिका पर भी संदेह जताया था। लेकिन चुनाव आयोग ने दो चरणों में गुजरात विधानसभा चुनावों की घोषणा से साफ कर दिया है कि उसने कांग्रेस की शिकायतों को कोई तवज्जो नहीं दी है।

Comments

Anonymous said…
चुनाव आयोग भी मोदीवादी हो गया है?!!!

चलिये 23 दिसम्बर तक की ही तो बात है.

Popular posts from this blog

मोदी, भाजपा व संघ को भारत से इतनी दुश्मनी क्यों?

घोषणाएं लुभाती हैं, सच रुलाता है

चेला झोली भरके लाना, हो चेला...