मायावती को इनकम टैक्स का नायाब तोहफा

मायावती ने आज अपना 52वां जन्मदिन खूब धूमधाम से मनाया। उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्रियों से लेकर पुलिस महानिदेशक और तमाम आला अफसरों में उन्हें केक खिलाने की होड़ लगी रही। लेकिन बहन जी को सबसे चौंकानेवाला तोहफा दिया है आयकर विभाग ने, जिसने टैक्स ट्राइब्यूनल की तरफ से उन्हें मिली क्लीनचिट के खिलाफ हाईकोर्ट में जाने की घोषणा की है।

मायावती ने इस साल सितंबर तक ही 14 करोड़ रुपए का एडवांस टैक्स जमा कराया है। इस बार के विधानसभा चुनावों में उन्होंने अपनी कुल संपत्ति 52 करोड़ रुपए घोषित की थी। मायावती कहती हैं कि उन्होंने सारी संपत्ति पार्टी के समर्थकों और कार्यकर्ताओं से मिले चंदे से बटोरी है। इस बार भी अपने जन्मदिन पर उन्होंने समर्थकों और कार्यकर्ताओं से गिफ्ट के रूप में नोट ही मांगे हैं।

Comments

Shiv said…
मैंने तो सुना कि मायावती जी ने जन्मदिन पर 'पार्टी वालों' से पैसा न देने के लिए कहा था..........:-)
शिवकुमार जी, ऐसा नहीं है। देखिए बहन जी ने अपने समर्थकों से कुछ दिन पहले ही क्या अपील की थी।
http://www.expressindia.com/latest-news/Contribute-financially-on-my-birthday-says-Mayawati/260794/2/
नोट ही तो "माया" को परिपुष्ट करते हैं। नोट माया के वाहक हैं।
Sanjay Tiwari said…
बातें तो बहुत हैं. मसलन गंगा एक्सप्रेसवे भी किसको तारने के लिए तैयार किया जा रहा है. इसके बारे में जागरूक पत्रकारों को खोजबीन करनी चाहिए.
पार्टी की सभी राज्य शाखाओं को वसूली का टारगेट मिला था, सुना था कि छत्तीसगढ़ शाखा को एक या डेढ़ करोड़ का टारगेट था पता नई कितना पहुंचा!

Popular posts from this blog

मोदी, भाजपा व संघ को भारत से इतनी दुश्मनी क्यों?

घोषणाएं लुभाती हैं, सच रुलाता है

चेला झोली भरके लाना, हो चेला...