Friday, 9 November, 2007

पटाखा फोड़ा तो देख लेना...

लगता है राष्ट्रपति प्रतिभा देवीसिंह पाटिल जी यही कह रही हैं। आज दिल्ली में दीपावली के मौके पर आम सभा के दौरान उनकी यह फोटो उतारी पीटीआई के फोटोग्राफर सुभाव शुक्ला ने।

7 comments:

Shiv said...

राष्ट्रपति जी के लिए पूरे आदर के साथ....

मुझे लगता है 'किसी से' शिकायत कर रही हैं; 'देखिए ये लोग पठाखा दिखा कर डरा रहे हैं. कहते हैं; 'भाषण देने का विचार हो तो भूल जाइये नहीं तो हम पटाखा.....'........:-)

आपको दीपावली की ढेर सारी शुभ कामनायें.

अविनाश वाचस्पति said...

पटाखेदार बेआवाज दीपावली शुभ हो।
आपने सही चित्र को उपयुक्त संवाद दिया है। इस समन्वय के लिए आपको,चित्र खींचक और चित्रवालों को मौन बधाई।

Anonymous said...

अनिल जी दिवाली कि ढेरों सारी बधाई और शुभ कामना !

Anonymous said...

अनिल जी दिवाली कि ढेरों सारी बधाई और शुभ कामना !

Pankaj Oudhia said...

आपको दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए।

Sanjeet Tripathi said...

सटीक हेडिंग!!

दीपावली की शुभकामनायें.

मीनाक्षी said...

दीपावली की अर्द्धरात्रि हो गई है... राष्ट्रपति जी की उठी उंगली और कुछ बोलती तस्वीर देख कर लगता है जैसे कह रही हों कि किसी पर एक उंगली उठे तो बाकि आपनी तरफ होती हैं.
दीपावली के शुभ पर्व पर शुभ कामनाएँ !